Shayari on ishq Hindi: 70+ Great Shayari, Images You Love…

shayari on ishq

Evergreen shayari Hindi Love…Shayari on ishq…Images…अक्सर अकेलेपन से वही गुजरता…है जो जिंदगी में सही फैसलों…

you are here to get shayari on ishq hindi … by Gulzar and images. Without wasting your time let’s see… also check our post about sad status in hindi for life and hindi shayari. and more inspirational quotes.

shayari on ishq in Hindi

shayari on ishq, shayari on ishq in hindi, hindi shayari

वैसे ही कुछ कम नहीं थे बोझ दिल पर

और ये दर्जी भी जेब बाई ओर सिल देता है।

vaise hee kuchh kam nahin the bojh dil par

aur ye darjee bhee jeb baee or sil deta hai.

 

लगता है मेरा दिल में भी FACE

#UNLOCK O he जब तुम सामने

आती हो तभी खुल्ता है ।

lagata hai mera dil mein bhee face

#unlochk o hai jab tum saamane

aatee ho tabhee khulta hai.

 

वक्त हालात देखकर

बदलता है और

अपने मौका देख कर ।

vakt haalaat dekhakar

badalata hai aur

apane mauka dekh kar .

 

न किसीके अभाव में जियो

न किसीके प्रभाव में जियो

ये जिन्दगी है आपकी आप अपने

स्वभाव में जियो ।(shayari on ishq)

na kiseeke abhaav mein jiyo

na kiseeke prabhaav mein jiyo

ye jindagee hai aapakee aap apane

svabhaav mein jiyo.

 

shayari on ishq

 

अक्सर अकेलेपन से वही

गुजरता है जो जिंदगी में

सही फैसलों को चुनता है।

Aksar akelepan se vahee

gujarata hai jo jindagee mein

sahee phaisalon ko chunata hai.

 

हिचकीयों में ढूंढ रहा था वफ़ा मैं

कमबख्त गुम हो गयी महज़ दो घूंट पानी से।

Hichakeeyon mein dhoondh raha tha vafa main

kamabakht gum ho gayee mahaz do ghoont paanee se.

 

लोग कहते है समझ सको तो ख़ामोशियाँ भी बोलती है

मैं अरसे से ख़ामोश हूँ

वो बरसों से बेख़बर है।

Log kahate hai samajh sako to khaamoshiyaan bhee bolatee hai

main arase se khaamosh hoon

vo barason se bekhabar hai.

 

कहने वालों का कुछ नहीं जाता

सहने वाले कमाल करते है

कौन ढूंढे जवाब द्दों का

लोग तो बस सवाल करते है।(shayari on ishq)

Kahane vaalon ka kuchh nahin jaata

sahane vaale kamaal karate hai

kaun dhoondhe javaab ddon ka

log to bas savaal karate hai.

 

shayari on ishq

 

ख़्वाब टूटे है मगर हौंसले तो ज़िंदा है

हम वो शख्स है जिससे मुश्किलें भी शर्मिंदा है।

Khvaab toote hai magar haunsale to zinda hai

ham vo shakhs hai jisase mushkilen bhee sharminda hai.

 

उम्मीद हमें कभी भी

छोड कर नहीं जाती

बस हम ही

उसे छोड देते हैं ।

Ummeed hamen kabhee bhee

chhod kar nahin jaatee

bas ham hee

use chhod dete hain

 

माँ-बाप की नसीहत सबको

बुरी लगती है..लेकिन

माँ-बाप की वसीयत सबको

अच्छी लगती है ।

Maan-baap kee naseehat sabako

buree lagatee hai..lekin

maan-baap kee vaseeyat sabako

achchhee lagatee hai

 

जीवन में इतना तो संघर्ष कर लेना

चाहिए की अपने बच्चे का ।

Jeevan mein itana to sangharsh kar lena

chaahie kee apane bachche ka

 

आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए

दूसरों का उदाहरण न देना पड़े।

Aatmavishvaas badhaane ke lie

doosaron ka udaaharan na dena pade.

Feeling bour like to see…

shayari on ishq by gulzar

shayari on ishq by gulzar

 

आधी जिंदगी गुजार दी

हमने पढ़ते-पढ़ते और सीखा क्या

एक-दूसरे को नीचा दिखाना ।

Aadhee jindagee gujaar dee

hamane padhate-padhate aur seekha kya

ek-doosare ko neecha dikhaana. (shayari on ishq)

 

घमंड नहीं मुझे अपने अंडों पर,ये मेरी सोच

और हौसले का विश्वास है।

Ghamand nahin mujhe apane andon par,ye meree soch

aur hausale ka vishvaas hai.

 

अपनी उम्र और पैसों पर कभी घमंड मत

करना क्योंकि जो चीजें गिनी जा सकें वो

यक़ीनन ख़त्म हो जाती है।(shayari on ishq)

Apanee umr aur paison par kabhee ghamand mat

karana kyonki jo cheejen ginee ja saken vo

yaqeenan khatm ho jaatee hai.

 

ये वो दौर है जहाँ

मासूमियत को बेवकूफ कहा जाता है।

Ye vo daur hai jahaan

maasoomiyat ko bevakooph kaha jaata hai.

 

shayari on ishq

 

परखो तो कोई अपना नही

समझो तो कोई पराया नहीं ।

Parakho to koee apana nahee

samajho to koee paraaya nahin.

 

सच्चे इंसान को झूठे इंसान से

अक्सर ज्यादा सफाई देनी पडती है।

Sachche insaan ko jhoothe insaan se

aksar jyaada saphaee denee padatee hai.

 

पीठ हमेशा मजबूत रखनी चाहिए.!

क्योंकि शाबासी और धोखा दोनो

पीठ पीछे से ही मिलते है।

Peeth hamesha majaboot rakhanee chaahie.!

kyonki shaabaasee aur dhokha dono

peeth peechhe se hee milate hai.

 

मुझको चाहते होंगे और भी लोग,

बहुत मगर मुझे मोहब्बत

सिर्फ अपनी मोहब्बत से है।

Mujhako chaahate honge aur bhee log,

bahut magar mujhe mohabbat

sirph apanee mohabbat se hai.

 

हाल तो पूछ लू तेरा पर डरता हूँ आवाज़ से तेरी,

ज़ब ज़ब सुनी है कमबख्त मोहब्बत ही हुई है।

Haal to poochh loo tera par darata hoon aavaaz se teree,

zab zab sunee hai kamabakht mohabbat hee huee hai.

 

अदा है, ख्वाब है, तकसीम है,

तमाशा है; मेरी इन आँखों में

एक शख्स बेतहाशा है।(shayari on ishq)

Ada hai, khvaab hai, takaseem hai,

tamaasha hai; meree in aankhon mein

ek shakhs betahaasha hai.

 

मोहब्बत का कोई रंग नहीं फिर भी वो रंगीन है,

प्यार का कोई चेहरा नहीं फिर भी वो हसीन है ।

Mohabbat ka koee rang nahin phir bhee vo rangeen hai,

pyaar ka koee chehara nahin phir bhee vo haseen hai.

 

shayari on ishq

 

किसी के लिये किसी की अहमियत खास होती है,

एक के दिल की चाबी हमेशा दूसरे के पास होती है !

Kisee ke liye kisee kee ahamiyat khaas hotee hai,

ek ke dil kee chaabee hamesha doosare ke paas hotee hai !

 

ना कर शक मेरी मोहब्बत पर ऐ पगली

अगर सबूत देने पर आया तो तू बदनाम हो जायेगी ।

Na kar shak meree mohabbat par ai pagalee

agar saboot dene par aaya to too badanaam ho jaayegee.

 

वो पूछते है हमसे, कि क्या हुआ है ?

कैसे बताये उन्हें कि, उन्ही से इश्क हुआ है ।

Wo poochhate hai hamase, ki kya hua hai ?

kaise bataaye unhen ki, unhee se ishk hua hai.

 

कहाँ मालूम था कि

सुख और उम्र की आपस में बनती नहीं

कड़ी मेहनत के बाद सुख को घर लाया तो

उम्र नाराज होकर चली गयी।

Kahaan maaloom tha ki

sukh aur umr kee aapas mein banatee nahin

kadee mehanat ke baad sukh ko ghar laaya to

umr naaraaj hokar chalee gayee.

 

तमाम उलझनों के साथ रहते है

कौन कहता है कि हम अकेले है! 

Tamaam ulajhanon ke saath rahate hai

kaun kahata hai ki ham akele hai!

 

दर्द हर इंसान को बदल देता है

कुछ को चिड़चिड़ा तो कुछ को ख़ामोश कर देता है।

Dard har insaan ko badal deta hai

kuchh ko chidachida to kuchh ko khaamosh kar deta hai.

 

किस्मत तो बेकार बोलने वालों

कभी किसी गरीब के पास बैठकर पूछना

की जिंदगी क्या है।

Kismat to bekaar bolane vaalon

kabhee kisee gareeb ke paas baithakar poochhana

kee jindagee kya hai.

 

ishq shayari in hindi font

ishq shayari in hindi font

 

बिन धागे की सुई सी बन गयी है ये ज़िंदगी

सिलती कुछ भी नहीं, बस चुभती जा रही है।

Bin dhaage kee suee see ban gayee hai ye zindagee

silatee kuchh bhee nahin, bas chubhatee ja rahee hai.

 

बड़ा शौक था किसी को मेरा आशियाना देखने का

जब देखी मेरी गरीबी तो रास्ता बदल लिया।

Bada shauk tha kisee ko mera aashiyaana dekhane ka

jab dekhee meree gareebee to raasta badal liya.

 

शायद फिर कोई मोड़ लेने वाली है ज़िंदगी

आज फिर से हवाओ में एक बेक़रारी सी है। (shayari on ishq)

Shaayad phir koee mod lene vaalee hai zindagee

aaj phir se havao mein ek beqaraaree see hai.

 

दोष काँटों का नहीं हमारा ही था जनाब

हमने ही पैर रखा था

वो तो अपनी जगह पे थे।

Dosh kaanton ka nahin hamaara hee tha janaab

hamane hee pair rakha tha

vo to apanee jagah pe the.

 

काई सी जम गई है आँखों पर

सारा मंज़र भी हरा रहता है।

Kaee see jam gaee hai aankhon par

saara manzar bhee hara rahata hai.

 

ishq shayari in hindi font

 

जरा सी बात पर छोड़ न देना

अपनो का दामन

ज़िन्दगी बीत जाती है अपनो को अपना बनाने में।

Jara see baat par chhod na dena

apano ka daaman

zindagee beet jaatee hai apano ko apana banaane mein.

 

कभी तो चौंक के देखे कोई हमारी तरफ

किसी की आँखों में हमें भी इंतज़ार दिखे।

Kabhee to chaunk ke dekhe koee hamaaree taraph

kisee kee aankhon mein hamen bhee intazaar dikhe.

 

दफ़न उसे सिर्फ छः फिट के गड्ढे में कर दिया

ज़मीन जिसके नाम करोड़ो में थी।

Dafan use sirph chhah phit ke gaddhe mein kar diya

zameen jisake naam karodo mein thee.

 

न जाने कब खर्च हो गए, पता ही न चला

वो लम्हें जो बचा कर रखे थे जीने के लिए।

Na jaane kab kharch ho gae, pata hee na chala

vo lamhen jo bacha kar rakhe the jeene ke lie.

 

रात को उठ न सका दरवाजे की दस्तक पे

सुबह बहुत रोया मैं, तेरे पैरों के निशान देख कर।

Raat ko uth na saka daravaaje kee dastak pe

subah bahut roya main, tere pairon ke nishaan dekh kar.

 

ज़िन्दगी लाती है ज़माने भर के गम

सुना है मकान अगर कच्चे हो तो

लड़की के रिश्ते तक नहीं आते।

Zindagee laatee hai zamaane bhar ke gam

suna hai makaan agar kachche ho to

ladakee ke rishte tak nahin aate.

 

तमाशा देख रहे थे जो डूबने का मेरा

अब वो निकले है मेरी तलाश में

कश्तियाँ लेकर।

Tamaasha dekh rahe the jo doobane ka mera

ab vo nikale hai meree talaash mein

kashtiyaan lekar.

 

बहुत सस्ता हूँ मैं साहब

कोई थोड़ा सा मीठा बोलता है

और मैं बिक जाता हूँ।

Bahut sasta hoon main saahab

koee thoda sa meetha bolata hai

aur main bik jaata hoon.

 

ज़िन्दगी से वादा कुछ यूँ भी निभाना पड़ गया

खुल कर रोना चाहा था लेकिन  #मुस्कुराना पड़ गया।

Zindagee se vaada kuchh yoon bhee nibhaana pad gaya

khul kar rona chaaha tha lekin muskuraana pad gaya.

 

मिट्टी भी जमा की और खिलौने भी खरीद कर देखें

लेकिन ज़िन्दगी कभी न मुस्कराई

फिर बचपन की तरह।

Mittee bhee jama kee aur khilaune bhee khareed kar dekhen

lekin zindagee kabhee na muskaraee

phir bachapan kee tarah.

 

ishq shayari in hindi font

 

अंदाज से न नापिये किसी की हस्ती साहब

ठहरे हुए दरिया अक्सर गहरा हुआ करते है।

Andaaj se na naapiye kisee kee hastee saahab

thahare hue dariya aksar gahara hua karate hai.

 

बर्तन अगर खाली हो तो ये मत समझना

की माँगने वाला ही हो

हो सकता है कि

वो शख्श सब कुछ बाँट कर आया हो।

Bartan agar khaalee ho to ye mat samajhana

kee maangane vaala hee ho

ho sakata hai ki

vo shakhsh sab kuchh baant kar aaya ho.

 

हुनर तो साहब सब में होता है

फर्क बस इतना सा है

किसी का छिप जाता है, किसी का छप जाता है।

Hunar to saahab sab mein hota hai

phark bas itana sa hai

kisee ka chhip jaata hai, kisee ka chhap jaata hai.

 

जब सच बोलता हूँ तो टूट जाते है रिश्ते

और झूठ कहता हूँ जब, मैं खुद टूट जाता हूँ।

Jab sach bolata hoon to toot jaate hai rishte

aur jhooth kahata hoon jab, main khud toot jaata hoon.

 

ये जो मुस्कान है चेहरे पर मेरी

ये बस हुनर है मेरा, हकीक़त नहीं।

Ye jo muskaan hai chehare par meree

ye bas hunar hai mera, hakeeqat nahin.

 

मुझे ऊँचाइयों पर देखकर हैरान है बहुत लोग

पर किसी ने मेरे पैरों के छाले नहीं देखे।

Mujhe oonchaiyon par dekhakar hairaan hai bahut log

par kisee ne mere pairon ke chhaale nahin dekhe.

 

बहुत अंदर तक तबाही मचा देते है

वो अश्क जो आँखो से बह नहीं पाते।

Bbahut andar tak tabaahee macha dete hai

vo ashk jo aankho se bah nahin paate.

 

भरे बाज़ार से अक्सर मैं खाली हाथ लौट जाता हूँ

कभी ख्वाहिश नहीं होती, कभी पैसे नहीं होते।

Bhare baazaar se aksar main khaalee haath laut jaata hoon

kabhee khvaahish nahin hotee, kabhee paise nahin hote.

 

वहम से भी अक्सर ख़त्म जाते है रिश्ते

कसूर हर बार गलतियों का नहीं होता।

Vaham se bhee aksar khatm jaate hai rishte

kasoor har baar galatiyon ka nahin hota.

 

Hope you like our shayari on ishq collection. You can download more Whatsapp status images and many from our website. Next post we will share Hindi love Shayari.

Like us on Facebook.

Thank you!

Visit again for wishes images. We know you deserve the best quality.😇😉👍

 

Shayari on ishq Hindi: 70+ Great Shayari, Images You Love…

Evergreen shayari Hindi Love…Shayari on ishq…Images…अक्सर अकेलेपन से वही गुजरता…है जो जिंदगी में सही फैसलों…

URL: https://memandsahheb.com/shayari-on-ishq-hindi.html

Author: S Patra

Book Editions:

Editor's Rating:
4
Shayari on ishq Hindi: 70+ Great Shayari, Images You Love...

Evergreen shayari Hindi Love...Shayari on ishq...Images...अक्सर अकेलेपन से वही गुजरता...है जो जिंदगी में सही फैसलों...

URL: https://memandsahheb.com/shayari-on-ishq-hindi.html

Author: S Patra

Book Editions:

Editor's Rating:
4

Leave a Comment